Sarkari Yojna Hindi

बिहार बाढ़ राहत योजना के 6000 रुपये ऐसे पाएं, बस करना होगा यह काम

Bihar Badh Rahat Yojana 2020 :- नमस्कार दोस्तों, बिहार राज्य की सभी प्रमुख नदियाँ उफान पर हैं जिसके कारण 16 जिलों के 69 लाख लोग बाढ़ के कारण प्रभावित हैं| आपको यह भी बता दें की इस बाढ़ के प्रकोप के कारण अब अटक 21 लोगों की मौत हो चुकी हैं| सभी बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं| ऐसे गंभीर समय मे बिहार सरकार अपने बाढ़ प्रभावित लोगों को आर्थिक मदद करने के लिए 6000 रुपये भेज रही है|

यह 6000 रुपये सभी बाढ़ प्रभावित लोगों को “बिहार बाढ़ राहत योजना” के तहत दी जाएगी| लेकिन बहुत सारे लोगों को यह पता नहीं है की यह 6000 रुपये कैसे प्राप्त करना हैं| यदि आप भी बाढ़ प्रभावित्त जिलों के निवासी हैं और बाढ़ के कारण आपको कई प्रकार के नुकसान उठाने पड़े हैं, तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं| आइए अब जानते हैं आप इस योजना के तहत 6000 रुपये कैसे प्राप्त कर सकते हैं|

बिहार राज्य के इन प्रभावित जिलों को मिलेगा 6000 रुपये

बिहार सरकार ने बाढ़ प्रभावित जिलों का निरिक्षण करते हुए एक आधिकारिक सुचना जारी की है| इस आधिकारिक सुचना मे कहा गया है कि बिहार के ये जिले समस्तीपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगड़िया, पूर्वी व पश्चिमी चम्पारण बाढ़ की चपेट में है| इन सभी जिलों के लोगों को योजना के तहत 6000 रुपये प्रदान किए जाएंगे|

बिहार सरकार यह 6000 रुपये की सहायता राशि दे रही हैं इस सहायता राशि देने के पीछे का उद्देश्य इन लोगों की समस्या को थोड़ा बहुत कम करना है और उन्हें आर्थिक लाभ पहुंचाना है| सरकार द्वारा दी जा रही यह सहायता राशी सभी लाभार्थियों के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से दिया जाएगा|

बिहार बाढ़ राहत की डिटेल

  • बिहार बाढ़ प्रभावित परिवार:- 6000 रुपये
  • कपड़ा का नुकसान :- 1800 रुपये
  • बर्तन बहने पर :- 2000 रुपये
  • फसल बर्बाद होने पर :- 6800 रुपये प्रति हेक्टेयर
  • गाय, भैंस खो जाने या मर जाने पर :- 30000 रुपये प्रति मवेशी
  • घोड़ा पानी में बह जाने या खो जाने पर :- 25000 रुपये प्रति
  • भेड़ ,बकरी, सूअर की क्षति पर :- 3000 रुपये प्रति
  • पक्का मकान, कच्चा मकान नुकसान :- 95100
  • मुर्गी क्षति पर :- 50 रुपये प्रति, अधिकतम 5000 रुपये
  • पक्का मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर :- 5200 रुपये
  • कच्चा मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर :- 3200 रुपये
  • जानवर के शेड नुकसान होने पर :- 2100 रुपये
  • झोपड़ी का पूर्ण नुकसान होने पर :- 4100 रुपये

बिहार बाढ़ राहत के 6000 रुपये ऐसे प्राप्त कर सकते हैं

आप सभी को बिहार बाढ़ राहत योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन नहीं करना होगा, यदि आप बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के निवासी हैं, तो आपका डेटा राज्य सरकार के अधिकारी को भेजकर तैयार किया जाएगा| बाढ़ में जिन परिवारों की गाय, भैंस, बकरी, घर आदि क्षतिग्रस्त हो गए हैं, उनके बदले में अलग से राशि प्रदान की जाएगी|

राज्य सरकार की ओर से, आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी इन प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों की सूची तैयार करेंगे, जिसमें प्रभावित व्यक्ति का नाम, पता और बैंक खाता संख्या भी उपलब्ध होगी| यदि आपकी फसल खराब हो गई है, तो इसके लिए सूची कृषि विभाग के माध्यम से तैयार की जाएगी|

यदि आप बाढ़ राहत के लिए 6000 रुपये प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि क्षेत्र में निरीक्षण अधिकारी कब आए हैं| निरीक्षण अधिकारी के पास जाएं और अपना नाम जोड़ें| सूची में नाम होने पर आपके खाते में धनराशि भेजी जाएगी| इस योजना का लाभ लेने के लिए आप सभी को बिहार बाढ़ राहत योजना 2020 में आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है|

बिहार बाढ़ राहत के लिए आवेदन भी कर सकते हैं

यदि आप बिहार बाढ़ राहत योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो बिहार सरकार ने यह सुविधा भी प्रदान की हैं| बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन के ऑफिसियल वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं| इस वेबसाइट पर जाकर आपको लॉग इन करना होगा, जिसके बाद आपको आवेदन करने की पुरी प्रक्रिया बताई जाएगी|

आप सभी भी बाढ़ राहत योजना का लाभ उठा सकते हैं, यदि आपके मन मे अभी भी यह 6000 रुपये प्राप्त करने को लेकर कोई सवाल हैं तो आप निचे कमेंट सेक्शन मे अपना सवाल पूछ सकते हैं|

1 Comment

Leave a Comment